ढोला सदिया पुल

ढोला सदिया पुल

ढोला सदिया पुल

भारत का सबसे लंबा पुल असम में बना ढोला सदिया का पुल है। लोहित (ब्रह्मपुत्र) नदी पर बना यह 9.15 किलोमीटर लम्‍बा पुल ऊपरी असम और अरूणाचल प्रदेश का पूर्वी भाग को आपस में जुड़ता है। यह पुल तीन लेन का है जो असम के ढोला को अरूणाचल के सदिया से जोड़ता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 26 मई 2017 को इस पुल का उद्घाटन किया। केंद्र सरकार ने ढोला सदिया पुल का नाम महान गायक, गीतकार और कवि भूपेन हजारिका के नाम पर भूपेन हजारिका सेतु रखने का निर्णय किया। इस अवसर पर मोदी ने कहा कि पूर्वोत्‍तर के लिए उन्‍नत संपर्क स्‍थापित करना सरकार की प्राथमिकता है। पुल इतना ताकवर है कि इस पर से सेना के टैंक तक गुजर सकते हैं।

 

ढोला-सदिया पुल परियोजना की कुल लम्‍बाई दोनों तरफ की सड़कों को मिलाकर कुल 28.50 किलोमीटर है और पुल की लम्‍बाई 9.15 किलोमीटर है। इस पुल का निर्माण बीओटी एन्यूटी द्वारा किया गया जिसकी कुल लागत 2,056 करोड़ रूपये है। पुल का निर्माण 2011 में शुरू हुआ था। इसका काम 2015 तक पूरा होना था लेकिन इसमें देरी हुई।

Leave a Comment

Your email address will not be published.