राजस्थानी भाषा के प्रति फैलाया हुआ भ्रम

राजस्थानी भाषा के प्रति फैलाया हुआ भ्रम राजस्थान की बोलियां आपस मे एक-दूसरे जिले वालों को समझ नही आती

मिथ्या भ्रम:-यदि ऐसा होता तो जयपुर से जोधपुर,उदयपुर,बीकानेर,भरतपुर दूर तक आपस मे रिश्ते नही होते

“मंजिल भी जिद्दी है.. रास्ते भी जिद्दी हैं कल क्या होगा किसने सोचा.. हौसले भी जिद्दी हैं.. “” न्याय की जंग जारी है

sangopang

सांगोपांग @SANGOPANG एक प्रयास है अच्छा व सार्थक कंटेंट हिंदी में उपलब्ध करवाने का। आपको हमारा प्रयास पसंद आया हो तो कृपया लाइक, शेयर, सब्सक्राइब व कमेंट करें। इससे हमें बड़ी मदद मिलेगी। धन्यवाद, जय हो! वैसे सांगोपांग का शाब्दिक अर्थ होता है संपूर्ण । या समग्र। हिंदी सहित कई स्थानीय भाषाओं में यह शब्द इस्तेमाल होता है। ** Sangopang meaning complete. Its a effort to provide credible, composite and creative content. To make our this journey a big success, we need your help. Please subscribe, like and share our channel in your networking. It really helps us. Jai ho!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *