जहां कंचों से चुना जाता है राष्ट्रपति

गांबिया अफ्रीका के सबसे छोटे देशों में से एक है जो कि सेनेगल के पास अटलांटिक महासागर के किनारे बसा है। इस देश में लोकतंत्र है। चुनाव पूरी लोकतांत्रिक प्रक्रिया से होते हैं लेकिन कंचों की मदद से। दरअसल यहां मतदान के समय मतदाता के कार्ड की जांच सहित सारी प्रक्रिया पूरी होने के बाद उसे एक कंचा दिया जाता है। उसे यह कंचा अपनी पसंद के उम्मीदवार या पार्टी के लिए बने विशेष ड्रम या ढोल में डालना होता है। इस दौरान मतदान अधिकारी आवाज से यह तय करता है कि मतदाता ने एक ही कंचा डाला। बाद में इन कंचों को लकड़ी के बक्सों में बने खांचों की मदद से गिना जाता है। इस तरह से किसी प्रत्याशी की हार जीता का फैसला होता है।

दुनिया में मतदान की यह अनूठी प्र​क्रिया है जिसमें कंचों या कांच की गोलियों का इतना महत्व है। बीते  60 साल से इस देश में ऐसे ही चुनाव होते रहे हैं। अधिकारियों का कहना है कि इससे जहां अनपढ़ व अशिक्षित मतदाता भी अपने मताधिकार का सही ढंग से इस्तेमाल कर पाते हैं वहीं किसी फर्जीवाड़े की गुंजाइश भी कम रहती है।

तो देखा आपने कंचों का कमाल जो इस देश गांबिया में राष्ट्रपति तक चुनने में भूमिका निभाते हैं। हालांकि गांबिया भी अब कंचों की दुनिया से कागजी मतपत्रों की ओर बढ़ रहा है ताकि लोकतांत्रिक प्रणाली के वैश्विक मानकों को अपनाया जा सके।

दोस्तों के साथ शेयर करें!
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Share on LinkedIn
Linkedin

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,