भारत का सीफूड निर्यात

भारत से समुद्री खाद्य पदार्थों यानी सीफूड का निर्यात 2016-17 में 37,870.90 करोड़ रुपए मूल्य का रहा। डालर के लिहाज से यह निर्यात 5.78 अरब डॉलर व मात्रात्मक रूप में 11,34,948 टन रहा। इस तरह से भारत ने वित्त वर्ष 2016-17 में सबसे अधिक सीफूड निर्यात किया।

एक साल पहले यानी 2015—16 में भारत से सीफूड का निर्यात किया 9,45,892 टन और 4.69 अरब डॉलर रहा था। सरकार द्वारा सात जून 2017 को जारी आंकड़ों के अनुसार अंतरराष्‍ट्रीय बाजारों में फ्रोजन झींगा और फ्रोजन मछली की भारी मांग के मद्देनजर भारत ने 2016-17 में सीफूड का रिकार्ड निर्यात किया।

भारत से सीफूड मुख्य रूप से अमेरिका, दक्षिण पूर्व एशिया व यूरोपीय संघ देशों को जाता है। भारत से निर्यात किए जाने सीफूड में फ्रोजन झींगा, झींगा, फ्रोजन मछली व वानैमी आदि शामिल हैं। आलोच्य साल में सीफूड के कुल निर्यात में फ्रोजन झींगा का हिस्सा सबसे अधिक 38.28 प्रतिशत व फ्रोजन मछली का 26.15 प्रतिशत रहा। इस दौरान अमेरिका ने ने 1,88,617 टन भारतीय सीफूड का आयात किया जो डॉलर मूल्य के कुल निर्यात का लगभग 29.98 प्रतिशत है।

सीफूड: समुद्र से मिलने वाले सभी तरह के भोज्य पदार्थ सीफूड या समुद्री खाद्य पदार्थ की श्रेणी में आते हैं। इनमें मछलियां व झींगे शामिल हैं। अनेक देशों में सीफूड को न केवल चाव से खाया जाता है बल्कि यह वहां का मुख्य भोजन भी है। 

दोस्तों के साथ शेयर करें!
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Share on LinkedIn
Linkedin

Tags: , , , ,