चेनानी-नाशरी सुरंग

चेनानी नाशरी सुरंग

जम्मू कश्मीर स्थित चेनानी नाशरी सुरंग का औपचारिक उद्घाटन दो अप्रैल 2017 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया। यह देश की सबसे लंबी सुरंग है।यह एशिया की भी अपनी तरह की सबसे बड़ी सुरंग है। सबसे लंबी सड़क परिवहन सुरंग। यही नहीं यह देश की पहली पूरी तरह से एकीकृत सुरंग प्रणाली वाली सुरंग है। इसे पटनीटाप सुरंग भी कहा जाता है। सुरंग के एक तरफ चेनानी गांव है तो दूसरी और यह नाशरी की तरफ खुलती है। लगभग 3720 करोड़ रुपए की लागत से करीब 9.2 किलोमीटर लंबी यह सुरंग साढ़े चार साल में पूरी हुई।

मौजूदा राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 44 पर इस सुरंग का निर्माण कार्य 2011 में शुरू हुआ था। इस सुरंग से जम्मू व श्रीनगर के बीच यात्रा का समय लगभग दो घंटे कम हो गई।

इस सुरंग में सुरक्षा के लिहाज से दो समानांतर ट्यूब बनाए गए हैं। मुख्य ट्यूब का व्यास 13 मीटर है ताक सुरक्षा ट्यूब या निकास ट्यूब का व्यास छह मीटर है। सुरंग में हवा की आवाजाही, फर्स्ट एड बाक्स, हाट लाइन जैसी सुविधाए हैं। इसमें 124 सीसीटी कैमरे लगे हैं।

इस सुरंग का उद्घाटन करने आए प्रधानमंत्री मोदी इस सुरंग का खुली जीप में मुआयना किया। कुछ दूरी पैदल चले। उन्होंने उधमपुर में एक रैली में कहा यह सुरंग जम्‍मू और श्रीनगर को दूरी कम करने वाली सिर्फ लम्‍बी सुरंग नहीं है। ये लम्‍बी सुरंग जम्‍मू-कश्‍मीर के लिए विकास की एक लम्‍बी छलांग है, ऐसा मैं साफ देख रहा हूं।

दोस्तों के साथ शेयर करें!
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Share on LinkedIn
Linkedin

Tags: , , , , , , ,